>>>>> Welcome to ANMOL BLOGS >>>>> This Website is best viewed in latest version of Google Chrome Browser >>>>> होम लोन इंश्योरेंस क्या है ? (What is Home Loan Insurance)

Subscribe Us

Header Ads

होम लोन इंश्योरेंस क्या है ? (What is Home Loan Insurance)

होम लोन इंश्योरेंस क्या है ? (What is Home Loan Insurance)

फ्रेंड्स Home Loan Insurance हो सकता है सुनने में थोड़ा अलग लग रहा हो लेकिन, अब सभी तरह के लोन का भी इन्शुरन्स होता है. जिसमें से Home Loan Insurance सबसे आगे है. Home Loan की रकम बहुत बड़ी होती है इसीलिए इसका इन्शुरन्स करवाना भी बहुत जरूरी है. कई ऐसी इन्शुरन्स कंपनी है जो Home Loan Insurance करती है.

 

Home Loan Insurance

इंसान अपनी पूरी जिंदगीरोटी, कपड़ा और मकानपाने की चाह में निकाल देता है. रोटी और कपड़ा, यूं तो आसानी से हर किसी को मिल जाता है, पर मकान के मामले में ऐसा कहना थोड़ा मुश्किल होगा. एक ऐसा वक़्त था जब चारो ओर बस बियाबान हुआ करता था, लोग कहीं भी जाकर बस जाते थे, फिर समय के साथ जनसंख्या भी बढ़ती गई और इंसान का प्रसार होता गया. विज्ञान का कुछ अविष्कार पैदावार बढ़ा दिया और जिस खेत में पहले पांच (5) टन अनाज पैदा होता था आज उसी खेत में पचास (40) टन अनाज पैदा होने लगा है लेकिन पृथ्वी का क्षेत्रफल नहीं बढ़ा आज भी उतना ही है.

 

बदलते वक़्त और बढ़ती आबादी के साथ रहने के लिए मकान मिलना काफी मुश्किल हो गया है और अब तो हालात यूं हो गया है साहब कि आम इंसान के लिए मकान खरीदना एक सपने जैसा हो गया है. पर मैंने कई लोगों को देखा है जो अपनी पूरी जिंदगी एक मकान की कीमत जुटाने में ही गुजार दी. पर अभी के समय में कई तरह के Home Loan मार्केट में आपको मिल जायेंगे. इन Home Loan की मदद से कोई भी व्यक्ति आसान किश्तों में अपना मकान खरीद सकता है. बता दू इनकी स्कीम काफी हद तक आसान होती है. ये मकान की कीमत पर ब्याज दर लगाकर एक निश्चित समय अवधि के हिसाब से किश्ते बना देते है हैं. जिसे आपको हर महीने लौटना होता है.

 

होम लोन की समय सीमा बहुत ज्यादा होती है, कई बार तो यह 25 से 30 साल तक होती है. 25 साल एक बहुत बड़ी समय सीमा है, सोचिए अगर इन पचीस सालों में लोन लेने वाले व्यक्ति को कुछ हो जाता है, यदि किसी कारणवश उसकी मृत्यु ही हो जाती है. तो अब तक उसने जो भी पैसे जमा किया वह भी गया और मकान भी गया. बैंक जिससे Home Loan लिया गया है उनके नियम बड़े सख्त हैं और अपने नियम के अनुसार वह मकान पर ही अधिकार कर लेती है. कुछ बैंको के नियमानुसार माकन तुरंत गिरवी भी रख लिया जाता है और कुल रकम एकबार में चुकता करने पर माकन की नीलामी भी कर दी जाती है. कुछ बैंको के नियमा अनुसार किश्तों को बढ़ा दिया जाता है. हर हाल में लोन लेने वाले व्यक्ति चारो ओर से घिर जाता है और उसके आँखों के सामने उसका धन लुट रहा होता है.

 

Home Loan Insurance Kya Hai?

परिवार का मुखिया जो एक मात्र कमाने वाला व्यक्ति है और अब वो ही नहीं रहा तो परिवार के लिए दो वक़्त का खाना ही कठिन हो जाता है. मकान की किस्तें चुकाना तो बहुत दूर की बात है। बाद में ऐसी नौबत आने पर परिवार को अपने घर से वंचित होना पड़ पर सकता है. ऐसे हालातों के लिए होम लोन इंश्योरेंस (Home Loan Insurance) लेना काफी ज्यादा बहुत ज्यादा सहायक माना गया है. लोगों में ये गलत धारणा है कि Home Loan एक जटिल प्रक्रिया है और ऐसे में Home Loan Insurance इस प्रक्रिया को और जटिल बना देता है पर होमलोन इंश्योरेंस कराना काफी ज्यादा फायदेमंद और आसान है. आइए समझते हैं कैसे?

Also Read: Aadhar card se loan kaise milta hai

Home Loan की सुरक्षा के लिए ली जाने वाली बीमा Policy उस व्यक्ति को मृत्यु या विकलांगता की की वजह से अपना बकाया Home Loan चुकाने में मदद करती है. और इसके तहत आपका बकाया Home Loan बीमा कंपनी चुकाती है.” अब जबकि Home Loan के साथ होमलोन इंश्योरेंस लेना इतना फायदेमंद है तो अब आखिर सवाल यह उठता है इसे लिया कहाँ से जाए? क्या क्या Home Loan और इंश्योरेंस एक ही बैंक से कराएं, या दोनों अलग अलग बैंक से कराए. इस पर आपको हर किसी की अलग अलग विचारधारा मिलेगी. कुछ लोग तो यह तर्क देंगे कि यदि आप दोनों अलग जगह से लेते हो तब एक जगह की खराब गुणवत्ता के कारण आपको, दूसरी जगह भी परेशान में डाल सकती है. एक ही संस्था से Insurance और Home Loan लेने के कई फायदे हैं.

 

Home Loan Insurance Benefit

1. यदि आप दोनों काम एक ही संस्था से Insurance कराते है तब आपको अलग अलग संस्थाओं के चक्कर नहीं लगाने होंगे. जिस बैंक से आपने होमलोन लिया था, आपकी बाकी की औपचारिकताएं भी वही बैंक पूरा कर देगा. इस तरह ये प्रक्रिया काफी आसान हो जायेगी.

2. बैंक या वित्तीय संस्थान Home Loan देने के साथ आपके प्रीमियम की अदायगी इंश्योरेंस कंपनी को कर देगा. फ्रेंड्स इस तरह आपको अलग से प्रीमियम भरने की जरूरत नहीं होगी.

3. अलग से इंश्योरेंस खरीदने के मुकाबले यह प्रक्रिया ज्यादा आसान है.

4. जरूरत पड़ने पर आपका बैंक आपके परिवार को दावा करने (आवेदन प्रक्रिया पूरी करने तथा आवश्यक कागजात लगाने) में मदद करेगा.

5. अब इतना सब जानने के बाद, यह बहुत आवश्यक है कि Home Loan Insurance पेपर पर हस्ताक्षर (Signature) करने से पहले उसकी शर्तों को बारीकी से जरूर पढ़ लें, समझ लें और साथ ही यह भी समझ लें कि क्या फायदे और कितना अपेक्षित नुकसान आपको Home Loan से हो सकता है.

6. दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियों के विरुद्ध सुरक्षा, एक साधारण बीमा आपको आग से सुरक्षा प्रदान कर सकता है, पर परंतु एक जीवन बीमा आपको मृत्यु विकलांगता के विरुद्ध कवर करता है.

7. प्रीमियम भुगतान में लचीलापन, एकमुश्त एकल प्रीमियम आपके होम लोन की अवधि तक अति सुरक्षा प्रदान करता है. यह दीर्घकाल में सस्ता पड़ता है दूसरी ओर नियमित प्रीमियम भुगतान के प्लान आपकी जेब पर तो आसान पड़ सकते हैं, परंतु पर नियत तिथि पर प्रीमियम भरना महंगा पड़ सकता है.

8. होम लोन अवधि में सुरक्षा, हो सकता है कि समय से पहले Home Loan अदा करने की उम्मीद में आप कम राशि और अवधि का बीमा कवर लेना चाहें, परंतु याद रखें यदि आपकी Policy आपके आवास ऋण से पहले खत्म हो गई तो आपको नया होम लोन कवर लेना पड़ सकता है. उस हालत में आपको पर काफी अधिक प्रीमियम चुकाना पड़ सकता है.

 

Home Loan Insurance Vs Term Plan

क्या इन परिस्थितियों से जूझने के लिए Home Loan Insurance से बेहतर भी कुछ है कुछ एक्सपर्ट ये भी मानते हैं कि यदि Home Loan Insurance का प्रीमियम ज्यादा है तो उसकी जगह Term Plan लेना ज्यादा फायदेमंद रहता है. इसे इस उदाहरण से समझा जा जा सकता है कि मान लीजिए आप 20 लाख रुपये का होम लोन ले रहे हैं. ऐसे में उसके Insurance के लिए एकमुश्त मोटी रकम चुकाना होता है. ये राशि तकरीबन 70-80 हजार रुपये होती है. ये राशि लोन ली गई राशि में ही जुड़ी रहती है जिसपर Home Loan के बराबर ही ब्याज वसूला जाता है। यानी अगर अगर आप ये Insurance लेते हैं तो आपके होनलोन की ईएमआई तकरीबन 850 रुपये प्रतिमाह तक बढ़ जाती है. कुछ एक्सपर्ट मानते हैं कि अगर ये इंश्योरेंस लेने की बजाय 50 लाख रुपये का Term Plan ले लिया जाए तो वो ज्यादा फायदेमंद है।

 

यह भी पढ़े: OTP (One Time Password) Kya Hota Hai? Jane Hindi Me

 

ऐसा इसलिए क्योंकि जितने रुपये महीने के खर्च में 20 लाख के होम लोन का इंश्योरेंस हुआ है, उतने में 50 लाख रुपये का Term Plan मिल जाएगा. होम लोन के इंश्योरेंस में तो कर्जधारक की मौत होने पर सिर्फ और सिर्फ लोन से मुक्ति मिलती है लेकिन अगर 50 लाख का टर्मप्लान ले लिया जाए तो उससे सिर्फ Home Loan की बची हुई रकम चुकाई जा सकती है बल्कि उसके अलावा भी मोटी रकम कर्जधारक के परिवार के हाथ में जाती है जो उसके लिए संकट की इस स्थिति में बहुत बड़ी मदद साबित होती है. इसके अलावा आज कई कंपनियां आज टर्म प्लान के साथ होम लोन को कवर करने की सुविधा भी देती है. ऐसे में Home Loan Insurance कराने की जरूरत ही खत्म हो जाती है. इसीलिए अगर आप भी होम लोन ले रहे हैं तो पहले टर्मप्लान सहित उसके दूसरे विकल्पों के बारे में  भी जानकारी जुटा लें और फिर कोई फैसला करें.

 

फ्रेंड्स होम लोन वास्तव में इनकम टैक्स बचाने का बेहतरीन विकल्प है. Home Loan की मासिक किस्त (EMI) के मूलधन के हिस्से पर इनकम टैक्स कानून के सेक्शन 80C के तहत Tex लाभ प्राप्त किया जा सकता है. HLPP में क्योंकि प्रीमियम की रकम भी लोन में ही शामिल होती है, इसलिए इस पर कोई अलग से टैक्स लाभ नहीं लिया जा सकता. Term Plan में आप सालाना प्रीमियम पर अलग से टैक्स लाभ पा सकते हैं.

 

Conclusion Home Loan Insurance

जीवन बीमा, शिक्षा बीमा, फसल बीमा, कन्या शादी बीमा की तरह यह भी एक बीमा है. इसमें लोन रकम का बीमा मिलता है. पर कर्ज धारक यदि कर्ज लौटा पाने की स्थिति में नहीं है (विकलांग / मृत्यु) तो यह बीमा कंपनी उसका मासिक क़िस्त चुकती है. एक मध्यम परिवार के लिया यह बहुत अच्छा विकल्प है. फ्रेंड्स इस जानकारी से संबंधित अन्य किसी मदद के लिए कमेंट बॉक्स में जरूर कमेंट करें.